दीदी ने खुश कर दिया मुझे जब घर में कोई नहीं था

0
300

Ghar me Akeli Bahan Ki Chudai : आज मैं आप लोगों को एक ऐसी कहानी सुनाने जा रहा हूं इसको पढ़कर आपका मन गदगद हो जाएगा। कहानी की शुरुआत करने से पहले मैं अपनी बहन के बारे में और मैं अपने बारे में और अपने परिवार के बारे में बता देता हूं। मेरा नाम किशन है मैं 21 साल का लड़का हूं मेरी बहन जो मेरे से 2 साल बड़ी है उसके उम्र 23 साल है वह बीटेक की पढ़ाई हॉस्टल में रहकर कर रही है अभी घर आई हुई है पापा मम्मी घर पर नहीं थे इस वजह से उसने मुझे वह दे दिया जिसकी मैं तलाश काफी दिनों से कर रहा था। मुझे किसी लड़की को चोदना था बूब्स को दबाना था निप्पल को अपने मुंह में लेना था पर यह सपना मेरा सच नहीं हो रहा था। दीदी ने मुझे खुश कर दिया इसलिए आज मैं आप सभी नॉनवेज story.com के दोस्तों के साथ अपनी सेक्स कहानी शेयर कर रहा हूं।

முரட்டு கதைகள்:  सगी माँ को चोदकर उसकी वासना की आग को शांत किया

1 दिन की बात है मेरी बहन कोमल दीदी और मैं दोनों ही अकेले थे मम्मी पापा दोनों नानी घर गए थे। मैं अपने कमरे में पढ़ाई कर रहा था दीदी अपने कमरे में थी। मैं पढ़ाई के साथ-साथ बीच-बीच में नॉनवेज story.com पर कहानियां भी पढ़ रहा था। तभी अचानक दिल से आभार, उनके दरवाजे के पास जाकर सुनने लगा किस चीज की आवाज अंदर से आ रही है। तो मैंने महसूस किया कि मेरी दीदी ही आवाज निकाल रही है अपने मुंह से वह भी सेक्सी आवाज। मेरी दीदी आह आह की आवाज निकाल रही थी। मेरे दरवाजे में एक छोटा सा छेद है जिसके अंदर भी दिखाई देता है।

முரட்டு கதைகள்:  होली में भाई के दोस्तों चूत में गुलाल भरा और घंटों मुझे चोदा

जब मैं उस छेद के अंदर से झांका तुम्हें हैरान रह गया दीदी अपना टॉप खोलकर अपनी ब्रा को खोल कर अपनी चुचियों को वह खुद ही दबा रही थी और सामने लैपटॉप पर एडल्ट मूवी चल रहा था। मैं हैरान रह गया क्योंकि मेरी सीधी-सादी बहन हॉस्टल जाकर इतना बदल गई थी। मैं कुछ भी नहीं बोल पाया चुपचाप वहीं पर खड़ा होकर एक आंख बंद करके एक आंख से छेद में आंखें डाल कर अपने दीदी के करतूत देख रहा था। मेरे से रहा नहीं गया मैंने तुरंत अपना लंड अपने हाथ में ले लिया और धीरे-धीरे हिलाने लगा।

जोश में आ गया था इस वजह से एक बार मैंने दरवाजे में अपना हाथ मार दिया क्योंकि मैं लंड को आगे पीछे कर रहा था। दीदी अचानक से रुक गई चुप हो गई अपना टॉप मेहंदी अपने कंप्यूटर को बंद कर दी मैं भागकर अपने कमरे में चला गया। और मैं अपने बेड पर लेट गया दीदी दरवाजा खोलकर मेरे कमरे में आई और बोली तुम थाना मेरे दरवाजे के पास। मैं चुप रहा कुछ नहीं बोला उन्होंने फिर से पूछा तू ही था ना दरवाजे के पास। मैंने कहा नहीं।

முரட்டு கதைகள்:  लोहड़ी पर पंजाबी भाभी को जमकर चोदा

वह तुरंत ही आकर मेरे पास बैठ गई और बोली मेरे को बुद्धू मत बनाओ तू ही था। मैंने कहा अगर नहीं था तो क्या हुआ? इतना सुनते ही उन्होंने मेरी आंखों में आंखें डाल कर देखने लगे और धीरे-धीरे मेरे करीब आकर अपना होंठ मेरे होंठ पर रख दिया और चूमने लगे मैं पहले से ही गर्म था मैंने दीदी भी पहले से ही गर्म थी। जिस्म को कितना भी खेल लो कोई फायदा नहीं होता है जब तक आप लड़की हो तो लंड मिल जाए और आप लड़का हो तो जब तक आपको चूत मिल जाए। मैं भी कहां रुकने वाला था तुरंत ही मैंने अपने दीदी के चुचियों को पकड़कर मचलना शुरू कर दिया। दीदी बोली धीरे-धीरे अभी तो पूरा दिन बाकी है मम्मी पापा शाम को 7:00 बजे आएंगे।

முரட்டு கதைகள்:  21 साल की विधवा बहन को भाई ने चोदा

मुझे समझ आ गया कि आज दीदी कुछ और ही देने वाली है पहले तो लगा कर बस चुम्मा चाहती तक ही रहेगा। इसीलिए मैं जल्दी से बूब्स पर हाथ फेरने लगा ताकि यह मौका भी ना छूट जाए और दीदी ने तो खुल्लम-खुल्ला बोल दे कि 7:00 बजे तक समय। तुरंत ही मैंने जीडी का टॉप उतार फेंका और उनकी चुचियों को पकड़कर मसलने लगा। मुझे वह सब मिल गया था जिसकी मुझे तलाश थी। मैं तुरंत ही दीदी कहीं पल को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगा। धीरे तुरंत मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाने लगी।

दीदी लेट गई टांगों को फैला दी मैं टांगों के बीच में बैठ कर उनके चूत को चाटने लगा उनके चूत से गर्म गर्म पानी निकल रहा था। नमकीन पानी जैसे ही मेरे मुंह में गया मैं तो पागल हो गया। मैं टूट पड़ा अपनी बहन के ऊपर। बड़ी-बड़ी चूचियां को मसलते हुए जब उनके होंठ को चूमता था तो ऐसा लगता था कि मैं जन्नत में आ गया हूं। दीदी मेरे होंठ को चूमते हुए मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी धीरे-धीरे करके मेरे बदन को चलाने लगे उसके बाद मेरा लंड अपने मुंह में लेकर चूसने लगी। मेरा लंड करीब 9 इंच का हो गया था। ऐसे लंड को वह चूस रही थी मानो आइसक्रीम हो।

முரட்டு கதைகள்:  अंकल ने जोर से घुसाया था लंड इसलिए में चीख गई

करीब 10 मिनट तक हम एक दूसरे के साथ ऐसे ही जिस्मों के साथ खेलते रहे। फिर दीदी ने दोनों पैरों को फैला दिया मानो उन्होंने आमंत्रित किया मुझे चुदाई करने के लिए। मैं भी तुरंत बीच में बैठकर दोनों टांगों को थोड़ा सा अलग किया और अपना लंड उनकी चूत पर लगाकर जोर से धक्के देकर पूरा अंदर घुसा दिया। मैंने पूछा पहले भी आप किसी और से सेक्स किए हो क्या। उन्होंने कहा नहीं तो मैंने कहा फिर अंदर आराम से मेरा लंड कैसे चला गया। दीदी बोली बैगन जानते हो बैगन ने ही मेरे वासनाओं को शांत किया।

मैं समझ गया कि दीदी भाई का नहीं अपने चूत में डालकर अपनी गर्मी को शांत करते हैं। मैं जोर-जोर से उनके चूत के अंदर झटके देकर चोदने लगा दीदी भी गांड घुमा घुमा कर मेरे मोटे लंड को अपने अंदर लेने लगे। जब जोर से धक्के देता था उनकी दोनों चूचियां फुटबॉल की तरह हिलती थी। दीदी अपने मुँह से आआअह्ह्ह ऊह्ह्हह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्हह्ह आआआआ की आवाज निकाल रही थी। जोर से धक्के देता था वह अपने मुंह से आह आह की आवाज निकालते थे।

முரட்டு கதைகள்:  सगी बहन की सील तोड़कर दिया चुदाई का आनंद - New Hindi Sex Stories

फिर मैं नीचे जीत गया मेरी दीदी ऊपर चढ़ गई मेरा लंड पकड़ कर अपने चूत के छेद पर सेट किया और बैठ गई पूरा लंड उनकी चूत में समा गया। अब वह जोर जोर से धक्के दे देकर मेरे लंड को अंदर-बाहर करने लगी। खुद भी वह चूचियां दबा दी थी मेरे हाथ को पकड़ कर अपने ऊपर रखती थी ताकि मैं मसल दूं। ऐसा ही करता था कभी उनकी चुचियों को दबाता था कभी उनके स्तर पर थप्पड़ मारता था और नीचे से धक्के देकर अपना मोटा लंड घुसा रहा था। मेरे दीदी घोड़ी बन गई मैं पीछे से जाकर अपना लंड उनके चूत में सेट कर के पीछे से धक्के दे देकर चोदने लगा। काम सूत्रा के करीब सात पोजीशन को हम दोनों ने ट्राई कर लिया।

முரட்டு கதைகள்:  Dost ki wife ko choda akele me, Sex with Friends Wife

आखिरकार हम दोनों ही एक दूसरे को खुश करके झाड़ गए और सो गए। शाम को 6:00 बजे उठे तो हम दोनों फिर से चुदाई किए थे। 6:45 में हम दोनों ने अपना कार्यक्रम समाप्त किया क्योंकि मुझे पता था मम्मी पापा आने वाले हैं। दीदी ने भरोसा दिलाया कि जब भी मौका मिलेगा तुम मुझे चोद सकते हो मैं कभी नहीं रोकूंगी तुम्हें। उस दिन के बाद से मैं और दीदी जैसे ही मौका मिलता है मैं चोद लेता हूं। पर अब मुझे दुख हो रहा है क्योंकि 5 दिन बाद वह फिर से हॉस्टल जाने वाली है।

आशा करता हूं मेरी यह कहानी आपको बहुत पसंद आई होगी मैं जल्द ही दूसरी कहानी नॉनवेज story.com पर लिखने वाला हूं तब तक के लिए आप सभी दोस्तों का शुक्रिया।

முரட்டு கதைகள்:  Sautela Baap aur Beti Sex Story, Step daughter sex story

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here